कॉलेज के बहुत से लडको ने उसे युज किया


मैं कौस्तुभ अग्रवाल आप सभी का अंतरवासना-स्टोरी डॉट कॉम में स्वागत करता हूँ। मैं अंतरवासना-स्टोरी डॉट कॉम का नियमित पाठक हूँ। आज आप लोगो को अपनी कहानी सुना रहा हूँ। दोस्तों मैं उन दिनों राजस्थान के कोटा में पढता था। जैसे ही हमारा बी-कॉम आनर्स का सेशन शुरू हुआ हमारे क्लास में एक बहुत ही मस्त लड़की पढने आई। उसका नाम आयशा था। वो बहुत सेक्सी और मस्त माल थी। वो पंजाबी थी और पटियाला की रहने वाली थी। राजस्थान में उसकी दीदी की शादी हुई थी, वही वो रह रही थी और हमारे कॉलेज में उसने एड्मीशन ले लिया था।

दोस्तों, उसके आते ही मेरी क्लास के सारे लड़के उसके पीछे पागल हो गये। आयशा बहुत फैसनेबल लड़की थी। वो टॉप, टी शर्ट, जींस और मिनी स्कर्ट पहनकर कालेज आती थी। उसकी स्कर्ट उसके घुटनों के हमेशा उपर रहती थी और क्लास के सभी चुदासे लड़के रोज उसकी खूबसूरत टांगो के दर्शन रोज कर लेते थे। दोस्तों, जब हमारे प्रोफेसर्स पढ़ाने आते थे तो वो भी आयशा मेहता को खूब ताड़ते थे और आँखें सेक लेते थे। ये रिकार्ड था की आयशा मेहता आज तक कभी सलवार सूट पहन कर कॉलेज नही आयी। वो हमेशा जींस टॉप, स्कर्ट, मिनी स्कर्ट और ब्लाउस पहन कर आती थी। धीरे धीरे मेरे क्लास के लड़के उसे लाइन देने लगे। फिर एक लड़के माधव ने आयशा को पटाकर चोद दिया और उसका विडियो बनाकर इंटरनेट पर डाल दिया। सब लडकों ने वो विडियो देख देखकर खूब मजा मारा और सबने मुठ मारी। मैंने भी वो विडियो देखा तो खूब मुठ मारी मैंने।

कुछ दिनों बाद आयशा का दूसरा विडियो वायरल हो गया जिसमे हमारे ही क्लास का एक दूसरा लड़का सुभम आयशा का मुंह अपने लंड से चोद रहा था। आयशा किसी प्यासी कुतिया ही तरह बड़े मजे से सुभम का मोटा लंड मुंह में ली हुई थी और किसी लोपीपॉप की तरह चूस रही थी। दोस्तों इस तरह मेरे क्लास की सबसे मस्त माल आयशा के एक के बाद एक 5 चुदाई वीडियोस वायरल हो गए। आयशा जैसी मस्त माल को एक एक करके 5 लड़कों ने चोदा और विडियो बनाकर वायरल कर दिया। हमारे बी कॉम ओनर्स क्लास के हर लड़के के मोबाइल में आयशा का चुदाई वाला विडियो जरुर था। हमारे क्लास के सर लोगो ने भी आयशा का चुदाई वाला विडियो देखा और खूब मजे मारे। धीरे धीरे सारे लड़के जान गये की आयशा एक नम्बर की आवारा और चुदक्कड लड़की है और उसको पटाकर बस चोद लो जीभरके। इसलिए मैं भी आयशा को लाइन मारने लगा। एक दिन वो मुझसे मिली तो रोने लगी और अपना हाल सुनाने लगी।

“आयशा !! तुम रोज रोज लड़को से चुदवाती हो, सबका लम्बा लम्बा लंड खाती हो, तुमको पता है क्लास में सब तुमको बहुत बुरी और गन्दी लड़की मानते है” मैंने कहा तो आयशा फूट फूट कर रोने लगी।

“कौस्तुभ! तुम ही बताओ की क्या कोई लड़की इतनी बेशर्म और आवारा होगी की चुदवाएगी और अपना विडियो खुद बनवाएगी??” आयशा बोली

“….मैं कुछ समझा नही..” मैंने कहा

“कौस्तुभ …..मैं अपने पहले बॉयफ्रेंड माधव से बहुत प्यार करती थी, पर उसने मुझे प्यार में धोका दिया। उसने मुझे चोदने से पहले कैमरा ऑन करके कमरे में छुपा दिया और मेरी पूरी विडियो बना ली। उसके बाद उसने मुझे बैकमेल करना शुरू कर दिया। मुझसे माधव ने १ लाख रूपए मांग लिए और अपने दोस्त सुभम से चुदवा दिया। और इसी तरह हर बार वो लोग मेरा विडियो बना लेते और मुझे 5 लड़कों से इसी तरह ब्लैकमेल करके चुदना पड़ा। और अब सब लोग सोचते है की मैं बदचलन और आवारा लड़की हूँ। मेरे १ नही 5-5 बॉयफ्रेंड है” आयशा बोली दोस्तों अब मुझे साफ़ समझ आ गया की आयशा कोई आवारा चुदासी लड़की नही थी। वो एक अच्छी लड़की थी। वो फूट फूट कर रोने लगी तो मेरी आँख भी भर आई।

“कौस्तुभ!! मेरे 5-5 चुदाई वाले विडियो इन्टरनेट पर पड़े है, अब कौन मुझसे करेगा शादी???” आयशा बेहद दुखी होकर बोली

“आयशा!! मैं तुमसे शादी करूँगा” मैंने कहा और उसको गले से लगा लिया

“आयशा !!…मुझे सच्चाई पता चल गयी है, तुम कोई चुदासी लंड की प्यासी लड़की नही हो, तुम एक अच्छी नेक, शरीफ और पूरी तरह से पवित्र लड़की हो” मैंने कहा और उसे मैंने सीने से लगा लिया। धीरे धीरे हमारी दोस्ती प्यार में बदल गयी। असलियत ये थी की मैं अगर ये सब नाटक नही करता तो आयशा कभी मुझे चूत नही देती। कुछ दिनों में आयशा मेरी माल बन गयी और मुझसे पट गयी थी। मैं उससे रोज शादी करने की बात करता था, इससे वो पूरी तरह से आश्वास्त थी की मैं उससे शादी जरुर करूँगा। एक दिन हम दोनों लोधी पार्क में बैठे हुए थे। वहां पर सभी जोड़े अपनी अपनी माल के साथ में बैठे थे और आपस में प्यार कर रहे थे। बार बार छक्के आकर सभी जोड़ों से पैसा मांगते थे।

एक छक्का मेरे पास भी ताली पीटता हुआ आ गया तो मैंने २० रूपए निकालकर दे दिए। उनके बाद कोई नही आया। जब मैंने देखा की सभी लड़के अपनी अपनी सामान को लेकर किसी झाड में बैठ गये है और दूध पी रहे है और चूत में ऊँगली कर रहे है, तो मैं भी अपनी माल आयशा को लेकर एक कनेर के फूल वाली झाड में चला गया। यहाँ हमे कोई नही देख रहा था। मैंने आयशा को बाहों में कस लिया और उसके मस्त मस्त ओंठ पीने लगा। मेरा आखरी मकसद उसको चोदना था और उसके रसीले बूब्स पीना था। यही मेरा असली मकसद था। आज आयशा से जींस टॉप पहन रखा था। मैंने उसकी जींस की जिब खोल दी और अपना हाथ अंदर डाल दिया। मुझे उसकी पेंटी मिल गयी। मैं हाथ अंदर डाल दिया और उसकी चूत में ऊँगली करने लगा। दोस्तों आप ये कहानी अन्तर्वासना – स्टोरी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।

“कौस्तुभ…..कोई देख लेगा…..यहाँ मेरी चूत में ऊँगली मत डालो….. कोई देख लेगा” आयशा बार बार बोल रही थी। पर मैं आज फुल मूड में था। उसको चोदने का मेरा बड़ा दिल कर रहा था। मैंने उसकी एक नही सुनी और धीरे धीरे मैं अपनी गर्लफ्रेंड आयशा की चूत में लगातार ऊँगली करता रहा। मैंने उसे पार्क की नर्म घास पर लिटा दिया था। और उसका टॉप मैंने उपर कर दिया था और ब्रा को मैंने उचका दिया था। और बड़ी देर से मैं सिर्फ २ काम ही कर रहा था। उसकी निपल्स को अपनी उँगलियाँ से मसल रहा था और आयशा की रसीली चूत में ऊँगली कर रहा था। लगातार १ घंटे तक फोरप्ले करने के बाद आयशा बहुत जादा गर्म हो गयी। वो चुदवाने के फुल मूड में आ गयी थी।

“अब मुझे चोद ही लो मेरी जान……तुमने मुझे इतना गर्म कर दिया है की अगर तुम मुझे नही चोदोगे तो मैं किसी और लड़के को बुलाकर चुदवा लुंगी” आयशा बोली और हाथ पाँव पटकने लगी। मेरा तीर निशाने पर लग गया था। मैंने उसे गर्म कर लिया था। मैंने अपनी शर्ट और जींस निकाल दी और आयशा को सीधा लिटा दिया। फिर उसके उपर मैं लेट गया और उसके दूध पीने लगा। मैं एक घनी झाड में छिपा हुआ था, इसलिए हम लोगो को कोई नही देख सकता था। मैं अपनी नयी गर्लफ्रेंड आयशा के उपर लेट गया और उसके मस्त मस्त चुच्चे मैं पीने लगा। वो बहुत मस्त हो गयी थी और मुंह से बेहद गरम गरम सिसकारी वो निकालने लगी थी।

“आआआआअह्हह्हह….ईईईईईईई…ओह्ह्ह्हह्ह…मम्मी ….मम्मी….आह्ह्हह्ह ..चूसो कौस्तुभ….और मेरे निपल्स चूसो….” आयशा चिल्ला रही थी। उसकी गर्म गर्म चुदास की आवाज मेरे अंदर कामवासना और भगनासा का संचार कर रही थी। मैंने उसके मस्त मस्त ३६” के दूध खूब मजे लेकर पिए और निपल्स को चूस चूस कर टन्न कर दिया। फिर मैं आयशा की बुर पीने लगा। उसकी चूत बहुत मस्त और भरी हुई थी। मैं चूत को इस तरह चाट रहा था जिसे उपसर कोई शहद लगा हुआ हो। कुछ देर बाद मैंने अपना लंड अपनी नयी गर्लफ्रेंड आयशा के भोसड़े में डाल दिया और उसे मजे लेकर चोदने लगा। आयशा ने मुझे बाहों में कस लिया और सच्ची प्रेमिका की तरह चुदवाने लगी। भले तो मेरे क्लास के 5 लकड़ो ने आयशा को धोखे से चोद लिया था, पर लंड तो बुर में डाल ही दिया था। इसलिए अब मैंने मन ही मन सोच लिया था की इस रंडी को खूब चोदूंगा। रोज इसको शादी का झासा दूंगा और उसकी बुर मारूंगा।

कहानी जारी है ….. आगे की कहानी पढने के लिए निचे लिखे पेज नंबर पर क्लिक करे …..

इस कहानी को WhatsApp और Facebook पर शेयर करें
  • R.K. Singh

    hello lund ki diwani kabhi online bhi koi ladka pta ke usase chudwa lo


Online porn video at mobile phone